जाने मोदी जी के 1.3 लाख के पेन की सचाई

0
truth-behind-1lac-30thousand-pen-used-by-modi-250318-1

truth-behind-1lac-30thousand-pen-used-by-modi-250318-2

जैसा की हम सब जानते है प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत को पूरी दुनिया में एक अलग पहचान मिल रहे है | जहाँ पहले भारत पाकिस्तान की गोली बारी की शिकायत यूनाइटेड नेशंस में करता था आज वही पाकिस्तान बहरत की शिकायत करता है |

डोगलाम विवाद पर हर बड़े देश का भारत के साथ खड़े होना अपने आप में एक अलग मिसाल है | खाड़ी देशों के साथ अच्छे सम्बन्ध हो या फिर आईएसआईएस इलाकों में फंसे भारतियों को एक फ़ोन कॉल से छुड़वा लेना हो |

भारत जहां पुरे विश्व में अपनी एक अलग और मजबूत पहचान बनाने में कामयाब नज़र आ रहा है वही देश में विरोधी दाल और उनके कुछ चमचे मोदी जी को गिफ्ट में मिले 10 लाख के सूट और उनके पेन को लेकर ओझी राजनीती करने से बाज़ नहीं आ रहे |

truth-behind-1lac-30thousand-pen-used-by-modi-250318-3

दुनिया भर में भारत अपनी हर फील्ड में कामयाबी का परचम लहराने में लगा हुआ है चाहे वो बिजली उत्पाद में हो या इसरो के रॉकेट लॉन्च हो या स्वत्छ भारत या मेक इन इंडिया लेकिन शायद विरोधियों को पता है अगर इन चीजों के फायदे आम जनता तक पहुँचने शुरू हो गए तो हमारा दुबारा राजनीती में आना बहुत मुश्किल हो जायेगा |

अक्सर विरोधी दल ब्यान देते है की हम मोदी को 2019 में बुरी तरह से हरा देंगे लेकिन फिर वही सारे विरोधी दल नगरपालिका के चुनाव से लेकर MP तक के चुनावों में महागठबंधन बनाने की तलाश करते नज़र आते है |

अभी कुछ समय पहले ध्रुव राठी नाम के एंटी-मोदी शक्श ने एक ट्वीट किया और लोगो ने उस ट्वीट की वास्तविकता या तथ्य को जाने बिना ही रीट्वीट कर दिया | जिसके बाद वो फोटो बहुत ज्यादा वायरल हो गयी |

इस तस्वीर में एक पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह है और एक में दिल्ली के चीफ मिनिस्टर अरविन्द केजरीवाल और बीच की तस्वीर में माजूदा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी है लेकिन इस तस्वीर को ख़ास तौर पर पेन पर केंद्रित करके प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने की कोशिश की गयी है |

बताया गया है की पूर्व प्रधान मंत्री और अरविन्द केजरीवाल 10 रूपए का पेन इस्तेमाल करते है और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 1.3 लाख का पेन इस्तेमाल करते है | ध्रुव राठी का एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर का करता है जो है यूट्यूब यह इंसान मोदी सरकार के हर जन योजना पर सवाल खड़े करता नज़र आता है और वही अरविन्द केजरीवाल के किसी भी तरह के काम का समर्थन करते नज़र आता है |

आपको बता दे की यह शख्स ख़ास तौर पर दिखाना चाह रहा है की किस तरह से नरेंद्र मोदी देश का पैसा इस तरह के चीज़ों पर उड़ा देते है, जरा ठहरिये आपको याद होगा जब विवाद राहुल गाँधी की जैकेट पर उठा था तब कोंग्रेसियों ने उसे गिफ्ट कह कर विवाद खत्म कर दिया था |

truth-behind-1lac-30thousand-pen-used-by-modi-250318-5

आपको बता दे की मोंट ब्लांक का यह पेन नरेंद्र मोदी जी को उनके समर्थक ने उपहार में दिया था न की उन्होंने इसे खरीदा था | हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार जब भी नरेंद्र मोदी विदेश में जाते है उनको बहुत महंगे और बड़े उपहार मिलते है |

विदेश मंत्रालय के नियम के अनिसार इन उपहारों को विदेश मंत्रालय के अधिकारिक भंडार तोशखाने में जमा करना होता है | विदेश मंत्रालय के स्टॉक इंचार्ज ने मीडिया से बात चीत करते हुए बताया था की उपहार प्राप्त करने वाला 5000 से कम रकम के उपहार को अपने पास रख सकता है लेकिन अगर उस उपहार की कीमत 5000 से ज्यादा है तो उसे बाकी की रक़म चुकानी पड़ती है |

आपको बता दे की यह पेन उन्हें जनवरी 2017 से मार्च के बीच मिले उपहारों में से एक था | यह उपहार नरेंद्र मोदी जी को मिले संयुक्त अरब अमीरात के शाही आवास का एक मॉडल, नक्काशी की हुई एक सजावटी मूर्ति के साथ मोंट ब्लांक भी शामिल था |

truth-behind-1lac-30thousand-pen-used-by-modi-250318-6

आपको बता दे की मोदी जी के भारत आते ही इस पेन को विदेश मंत्रालय के तोषखाने में बंद कर दिया गया था | सरकार को उस चीज़ के लिए बदनाम करना जो की उपहार में मिली हो और विदेश मंत्रालय के तोषखाने में बंद हो कहाँ तक की समझदारी है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + sixteen =