मोदी मुक्त भारत के लिए अपनी जान देने को त्यार हूँ – अन्ना हज़ारे

0
hazare-will-do-hunger-strike-against-modi-government-210318-1

hazare-will-do-hunger-strike-against-modi-government-210318-2

बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हज़ारे 23 मार्च को ‘करो या मरो’ के नाम से किसानों की मानगो को लेकर एक आंदोलन शुरू करने जा रहे है | अन्ना हज़ारे को मनाने के लिए ‘महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन’ उनसे मुलाक़ात के लिए भी जा चुके है |

इस मुलाक़ात से यह तो साफ़ होता है की मोदी सरकार अन्ना हज़ारे के आंदोलन को गंभीरता से ले रही है | हम सबको याद है की अन्ना हज़ारे के आंदोलन के बाद ही कांग्रेस का राज देश भर में बुरी तरह से खत्म हो गया था |

महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की हमने अन्ना हज़ारे से अनुरोध किया है की आप अपनी उम्र और स्वास्थ्य का ध्यान रखे, आपको आंदोलन करने की नौबत नहीं आएगी हम आपकी मांगों को ऐसे ही स्वीकार कर लेंगे |

hazare-will-do-hunger-strike-against-modi-government-210318-3

महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने आगे कहा की यह मांगे कोई छोटी मोटी नहीं है इसके लिए सरकार को थोड़ा वक़्त चाहिए हम मांगे मानने को त्यार है बस थोड़े वक़्त की जरुरत है और उम्मीद करते है की अन्ना हज़ारे इस बात को समझेंगे और अनशन पर नहीं बैठेंगे |

अन्ना हज़ारे ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है की जिस सुचना के अधिकार के लिए हमने दिन रात एक करके सरकार पर दबाव बनाकर बनवाया है उसे मोदी सरकार ने बेहद कमजोर कर दिया है | अन्ना हज़ारे ने कहा है की मोदी सरकार के मंत्रियों के दिमाग में केवल पैसा और सत्ता का खेल ही चल रहा है |

सरकार किसानों की लगातार चल रही मांगों की और अभी ध्यान नहीं दे रही इसलिए हमने दिल्ही में ‘करो या मरो’ आंदोलन की शुरुआत करने जा रहे है | अन्ना हज़ारे ने कहा जैसा की आपको याद होगा हमने जनलोकपाल बिल के लिए 16 दिनों तक केवल पानी पीकर अनशन किया था जिसके बाद देशवासियों और उनकी हिम्मत के आगे सरकार को झुकना पड़ा था |

hazare-will-do-hunger-strike-against-modi-government-210318-4

अन्ना हज़ारे ने कहा की सरकार ने उस वक़्त कानून तो बना दिया लेकिन उसे सही ढंग से चलाने में नाकामयाब रही है | अन्ना हज़ारे ने अपनी मुख्य मांग को रखते हुए कहा की कृषि आयोग, नीति आयोग या फिर चुनाव आयोग आदि को सरकारी नियंत्रण से मुक्त किया जाना चाहिए |

अगर सरकार हमारी मांगों को नहीं मानेगी तो मोदी हटाओ का नारा लेकर हम आगे बढ़ेंगे और इसके लिए अगर मैं शहीद भी हो गया तो मुझे कोई भी गम नहीं होगा | अन्ना हज़ारे ने यह भी कहा की पिछले आंदोलन का फायदा उठाकर कुछ लोग सत्ता में तो जाकर बैठ गए लेकिन लोगों की उमीदों को उन्होंने चकनाचूर कर दिया है |

हम इस आंदोलन से किसी भी राजनेता या राजनैतिक पार्टी को जन्म नहीं लेने देंगे, हमारी मांगे सरकार को माननी होंगी न की खुद सरकार बनानी होगी | इस बाद को मैं खुद सुनिश्चित करूँगा की इस बार लोगो की उमीदों पर हमारा आंदोलन खरा उतरे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + eighteen =