CJI ने चारों जजों को संविधान पीठ से बाहर किया

0
cji-has-brought-the-four-judges-out-of-the-constitution-bench-011618-1
Advertisement
Loading...

cji-has-brought-the-four-judges-out-of-the-constitution-bench-011618-2

कुछ दिन पहले 4 जजों ने सुप्रीम कोर्ट में आतंरिक कलह की वजह से प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी | जिसके बाद निधाना मोदी सरकार पर उठाया गया लेकिन मोदी सरकार इसे आतंरिक कलह बताती रही | बाद में मीडिया के सवालों से परेशान होकर सभी जजों ने ब्यान दिया की सब ठीक है |

इसी विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता में पांच जजों की संवैधानिक पीठ का गठन किया था | लेकिन इस सवैंधानिक पीठ में सुप्रीम कोर्ट के चार सबसे वरिष्ठ जजों जस्टिस जे चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एमबी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ को शामिल नहीं किया गया |

आधिकारिक सूचना पर ध्यान दे तो अब पांच सदस्यीय पीठ में मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के अलावा जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एएम खालविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण शामिल है |

cji-has-brought-the-four-judges-out-of-the-constitution-bench-011618-3

अब यह पीठ पीठ 17 जनवरी से आधार कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने, समलैंगिकता पर अपने ही 2013 के फैसले पर पुनर्विचार करने जैसे महत्व पूर्ण फैसलों पर सुनवाई करेगी |

आपको बताना चाहेंगे की इन मामलो के साथ साथ या सवैधानिक पीठ केरल के सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश पर रोक, पारसी महिला के दूसरे धर्म के शख्स से शादी करने के बाद धार्मिक पहचान खो देने, अनैतिक संबंधों में सिर्फ पुरुष को ही दोषी ठहराने समेत तीन अन्य मामलों की समीक्षा करेगी |

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − one =